जौनपुर: मांगने पर नहीं मिलती फोर्स, कैसे हो राजस्व विवाद का निबटारा

जौनपुर: मांगने पर नहीं मिलती फोर्स, कैसे हो राजस्व विवाद का निबटारा

जौनपुर। जनपद में राजस्व के मामलों का निस्तारण पुलिस खुद नहीं चाहती है की हो। कई ऐसे मामले में देखा गया है जहां राजस्व को पुलिस का सहयोग ना मिलने से राजस्व की टीम को बैरंग वापस लौटना पड़ता है। ऐसा ही एक मामला फिर सामने आया है जहां सरकारी तलाब की पैमाईश हो रही थी और मौके पर एसडीएम के आदेश के बावजूद भी पुलिस नहीं पहुंची। शाहगंज तहसील के समोधपुर गांव में सरकारी तलाब की पैमाईश के लिए राजस्व की टीमे तो गई लेकिन पुलिस ना होने से कोई बड़ी वारदात हो सकती थी। एसडीएम शाहगंज ने बताया कि कानूनगो द्वारा बताया गया कि पुलिस मौके पर नहीं तो मैने सरपतहां थानाध्यक्ष को फोन कर फोर्स भेजने को कहा, फोर्स गई या नहीं ​इसके बारें में कोई भी जानकारी टीम ने नहीं दी है। अब सवाल उठता है कि सरकारी जमीन के पैमाईश में अगर पुलिस का सहयोग नहीं मिल रहा है तो आम नागरिको को कहां से राहत मिलेगी। एसओ सरपतहां से जब बात करने का प्रयास किया गया तो वह टालमटोल करने लगे। अगर पुलिस नहीं गई तो क्या वजह थी की पुलिस राजस्व टीम का सहयोग क्यों नहीं कर रही है? अब देखना होगा की लापरवाही बरने वालोें के खिलाफ कब कार्रवाई होती है। एसपी अशोक कुमार का सभी थानाध्यक्षों को सख्त आदेश है कि राजस्व टीम के पुलिस जाकर मामलों का निस्तारण करें लेकिन सरपतहां पुलिस एसपी के आदेश का पालन तक नहीं कर रही है।